अनिल अम्बानी और संता

अनिल अम्बानी: अगर मैं सुबह से अपनी कार में निकलूं तो शाम तक अपनी आधी ज़मीन भी नहीं देख सकता . . . . . . . . . . . . . . संता:हमारे पास भी पहले ऐसी ही खटारा कार थी. . . . . . . . हमने भेज दी