दुनिया


छोटी सी बात

छोटी सी बात पर कोई शिकवा न करना; कोई भूल हो जाए तो माफ़ करना; नाराज़ तब होना जब हम दोस्ती तोड़ देंगे; क्यों की ऐसा तब होगा जब हम दुनिया छोड़ देंगे